राष्ट्रीय
Trending

अहमदाबाद-मुंबई हाईवे है खतरनाक

PUBLISHED BY : VANSHIKA PANDEY

केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी भी अहमदाबाद-मुंबई राजमार्ग पर विचार करते हैं, जिस पर टाटा समूह के पूर्व अध्यक्ष साइरस मिस्त्री की कार दुर्घटनाग्रस्त हो गई थी। ओवरटेक करने के दौरान सूर्या नदी के पुल पर सायरस की कार रोड डिवाइडर से जा टकराई। गडकरी ने सोमवार को कहा कि अहमदाबाद-मुंबई एक्सप्रेसवे पर 1.25 लाख पैसेंजर कार यूनिट्स (पीसीयू) का ट्रैफिक वॉल्यूम है, इसलिए यहां गाड़ी चलाते समय टक्कर होने की संभावना बहुत ज्यादा है।

सड़क हादसे में सायरस मिस्त्री की मौत

IAA वर्ल्ड समिट में बोलते हुए, गडकरी ने कहा कि 20,000 या अधिक पीसीयू के यातायात को नियंत्रित करने के लिए छह लेन वाली सड़कों की आवश्यकता है। गडकरी ने सड़क हादसे में सायरस मिस्त्री की मौत पर दुख जताया है. उन्होंने गाड़ी चलाते समय सीट बेल्ट नहीं लगाने को गलत बताया। साथ ही कहा कि सीट बेल्ट कार के पीछे बैठे लोगों के लिए भी उतनी ही जरूरी है जितनी आगे की सीट पर बैठने वालों के लिए। कार दुर्घटना में मारे गए बदमाश ने सीट बेल्ट नहीं बांधी हुई थी।

2024 तक सड़क दुर्घटनाओं में 50 प्रतिशत तक कमी लाने का लक्ष्य


इंटरव्यू के दौरान केंद्रीय मंत्री ने कहा कि सरकार 2024 तक सड़क हादसों में 50 फीसदी की कमी लाना चाहती है. इसके लिए अंतरराष्ट्रीय सुरक्षा मानक का पालन किया जाएगा। गडकरी ने भारत में छह एयरबैग के बजाय चार एयरबैग रखने के लिए कार कंपनियों पर सवाल उठाया। उन्होंने कहा कि जब कार कंपनियां दूसरे देशों में वाहनों का निर्यात करती हैं, तो वे छह एयरबैग रखती हैं, भारत में चार बेचती हैं, क्या भारतीय लोगों के जीवन का कोई मूल्य नहीं है?

जब उनसे पूछा गया कि छह एयरबैग लगाने से कार की कीमत 50-60 हजार रुपये से ज्यादा हो सकती है. इस पर गडकरी ने कहा- यह गलत है। अगर ज्यादा संख्या में प्रोडक्शन होगा तो एक एयरबैग की कीमत करीब 900 रुपये ही होगी। गडकरी ने कहा कि भारत में भी छह एयरबैग वाहनों को बाजार में उतारने का काम चल रहा है.

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button