राष्ट्रीय

PFI : नदीम के पास मिली किताब से मची खलबली

पीएफआई पर बैन: आसानी से उपलब्ध सामग्री से आईईडी कैसे बनाएं? मोहम्मद नदीम के पास मिली किताब

( PUBLISHED BY – SEEMA UPADHYAY )

केंद्र सरकार ने कट्टरपंथी इस्लामी संगठन पीपुल्स फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) और उसके आठ सहयोगियों पर पांच साल के लिए प्रतिबंध लगा दिया है। गृह मंत्रालय की अधिसूचना के मुताबिक पीएफआई के आईएस जैसे वैश्विक आतंकी संगठन से संबंध हैं। उनकी राष्ट्रविरोधी गतिविधियों के कई सबूत हैं। इसलिए यह कार्रवाई गैरकानूनी गतिविधियां (रोकथाम) अधिनियम (यूएपीए) के तहत की गई है। उत्तर प्रदेश, कर्नाटक और गुजरात की सरकारों ने गृह मंत्रालय से PFI पर प्रतिबंध लगाने की मांग की थी।

खतरनाक मंसूबे

राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने दावा किया है कि उसे मिशन 2047 से जुड़ी सीडी और पीएफआई नेताओं से बम बनाने का फॉर्मूला मिला है। गजवा-ए-हिंद की योजना भी मिली है। इसमें भारत को इस्लामिक राष्ट्र बनाने से संबंधित सामग्री है।

बाराबंकी-खादरा में आईईडी बनाने के संक्षिप्त कोर्स मिले

एजेंसी के मुताबिक बाराबंकी के पीएफआई नेता मोहम्मद नदीम को मिली किताब का शीर्षक है- आसानी से उपलब्ध सामग्री से आईईडी कैसे बनाया जाए। यह बम बनाने का एक छोटा कोर्स है। ऐसी ही एक किताब खदरा के नेता अहमद बेग के पास भी मिली है। एक पीएफआई नेता के पास से एक पेन ड्राइव मिली है, जिसमें आईएस गजवा-ए-हिंद के वीडियो मिले हैं।

हाथरस की घटना में पीएफआई की भूमिका की जांच करते हुए एसटीएफ को अहम जानकारी मिली है। इसके बाद 16 फरवरी 2021 को बसंत पंचमी से ठीक पहले सीरियल ब्लास्ट के जरिए प्रदेश को हिला देने की योजना बना रहे पीएफआई के दो सदस्यों को यूपी एसटीएफ ने लखनऊ के गुडंबा इलाके से गिरफ्तार कर लिया. लखनऊ से गिरफ्तार केरल निवासी आशद बदरुद्दीन और फिरोज खान ने राज्य में प्रमुख स्थानों पर विस्फोट की सिफारिश की थी।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button