अंतराष्ट्रीय

अमेरिका के बाद रूस ने किया भारत का समर्थन…..

भारत को बनाया जाए संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद का स्थायी सदस्य, अमेरिका के बाद रूस का भी समर्थन

( PUBLISHED BY – SEEMA UPADHYAY )

संयुक्त राष्ट्र महासभा में रूस ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद का स्थायी सदस्य बनने के लिए एक बार फिर भारत का समर्थन किया है। रूसी विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव ने कहा, “हम अफ्रीका, एशिया और लैटिन अमेरिका के देशों के प्रतिनिधित्व के माध्यम से सुरक्षा परिषद को और अधिक लोकतांत्रिक बनाने की क्षमता देखते हैं, विशेष रूप से भारत और ब्राजील सुरक्षा परिषद में स्थायी सदस्यों के रूप में जगह होनी चाहिए।

इससे पहले भारत ने 31 अन्य देशों के साथ सुधारों पर एक संयुक्त बयान में कहा था कि सुरक्षा परिषद का विस्तार स्थायी और अस्थायी दोनों श्रेणियों में किया जाना चाहिए। साथ ही इसके काम करने के तरीकों में सुधार करने की भी वकालत की।

जो बाइडेन ने भी किया था समर्थन

इससे पहले अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने भारत को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद का स्थायी सदस्य बनाए जाने का समर्थन किया था। इस दौरान उन्होंने जापान और जर्मनी को स्थायी सदस्य बनाने की बात भी कही. संयुक्त राष्ट्र महासभा के सत्र को संबोधित करते हुए उन्होंने सुरक्षा परिषद में सुधार की आवश्यकता को भी दोहराया। बाइडेन ने सुरक्षा परिषद को और अधिक समावेशी बनाने का आह्वान किया ताकि वह आज की जरूरतों को बेहतर ढंग से पूरा कर सके।

भारत को बनाया जाए स्थायी सदस्य: बाइडेन

वीटो को लेकर उन्होंने कहा कि यह केवल विशेष या चरम परिस्थितियों में ही किया जाना चाहिए, ताकि सुरक्षा परिषद की विश्वसनीयता और प्रभाव बना रहे। बाइडेन प्रशासन के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि हम अतीत में विश्वास करते थे और अब भी मानते हैं कि भारत, जापान और जर्मनी को सुरक्षा परिषद का स्थायी सदस्य बनाया जाना चाहिए।

विदेश मंत्री ने ठोका दावा

वहीं, विदेश मंत्री एस जयशंकर ने अपने संबोधन के दौरान यूएनएससी में सुधारों की वकालत की है। जयशंकर ने कहा कि भारत और जिम्मेदारी लेने को तैयार है। विदेश मंत्री ने यह भी कहा कि ऐसे महत्वपूर्ण मामले पर गंभीरता से चर्चा होनी चाहिए. इसमें किसी भी देश को बाधा नहीं डालनी चाहिए।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button