खबर हटके

शिमला की इस टनल में आज भी भटकती है प्रेत आत्मा!

शिमला की टनल नं. 33 में आज भी है आत्मा का वास!

( PUBLISHED BY – SEEMA UPADHYAY )

वैसे तो कालका से शिमला तक रेल मार्ग पर कई सुरंगें हैं, लेकिन उनमें से सबसे खास और भयानक सुरंग संख्या 33 है। कहा जाता है कि इस सुरंग में आज भी उस इंजीनियर की आत्मा बसी हुई है, जिसने ठीक सामने ही आत्महत्या कर ली थी। सुरंग क्या है इस सुरंग की कहानी.

टनल का नाम द बरोग टनल है, जिसे टनल नंबर 33 के नाम से भी जाना जाता है। 1143.61 मीटर लंबी यह टनल बड़ोग रेलवे स्टेशन के पास कालका-शिमला रूट पर स्थित है। इसका निर्माण 20वीं सदी में किया गया था और यह दुनिया की सबसे सीधी सुरंग है। इस टनल को पार करने में ट्रेन को ढाई मिनट का समय लगता है।

दो तरफ से शुरू की खुदाई

अंग्रेजों के जमाने में कर्नल बरोग नाम के एक ब्रिटिश इंजीनियर थे, जिन्हें इस सुरंग के निर्माण की जिम्मेदारी दी गई थी। उस दौरान पहाड़ों को काटने के लिए बड़े शीशे और एसिटिलीन गैस का इस्तेमाल किया जाता था। कर्नल ने पहले पहाड़ का निरीक्षण किया और दो सिरों पर निशान लगाए और मजदूरों को दोनों सिरों से सुरंग खोदने का निर्देश दिया। उसने अनुमान लगाया था कि खुदाई करते समय दोनों सुरंगें बीच में मिल जाएंगी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ।

कर्नल के काम में थोड़ा सा विचलन था। सुरंग खोदते समय इस तरह के विचलन आम हैं, लेकिन ब्रिटिश सरकार को यह पसंद नहीं आया। सरकार ने पैसे की बर्बादी के लिए कर्नल पर एक रुपये का जुर्माना लगाया। मजदूरों ने बहुत झूठ भी बोला क्योंकि उनका श्रम व्यर्थ चला गया था। इस बात से इंजीनियर काफी परेशान हो गया और एक दिन अपने कुत्ते को सुबह टहलने ले गया और खुद को गोली मार ली।

photo – @socialmedia

इंजीनियर की आत्मा

स्थानीय लोगों का मानना ​​है कि इस सुरंग में आज भी इंजीनियर की आत्मा घूमती है। यही वजह है कि रात के समय इस टनल के पास कोई नहीं जाता। स्थानीय लोगों का यह भी कहना है कि रात के समय सुरंग के अंदर से किसी के कराहने की आवाज आती है।

हालांकि हकीकत में यह सुरंग बेहद डरावनी भी है। अगर सुरंग के अंदर की सभी लाइटें बुझा दी जाती हैं, तो अंदर बहुत डरावना दृश्य होता है। पहाड़ का पानी अंदर रिसता रहता है। इस सुरंग के अंदर कुछ दूर चलने के बाद आपको एक सुरंग मिलेगी, जहां से अजीबोगरीब आवाजें आती हैं। सरकार ने उस सुरंग को बंद करने के लिए लोहे का दरवाजा भी लगाया, लेकिन एक दिन लोगों ने दरवाजे का ताला टूटा हुआ पाया। तब से लेकर आज तक इस पर ताला नहीं लगा है। कोई भी वहां जा सकता है और खौफनाक आवाजें सुन सकता है। आप भी!

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button