व्यापार

धोखाधड़ी से रहे सावधान

PUBLISHED BY : Vanshika Pandey

देश में करीब एक हजार इंस्टेंट लोन एप हैं जिनके कामकाज में गड़बड़ी की शिकायत है। इनमें से करीब 750 ऐप्स गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड कर आसानी से धोखा खा जाते हैं।
देश में करीब एक हजार इंस्टेंट लोन एप हैं जिनके कामकाज में गड़बड़ी की शिकायत है। इनमें से करीब 750 ऐप्स गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड कर आसानी से धोखा खा जाते हैं। लगभग 300 ऐप ऐसे हैं जिन्होंने लोगों में विश्वास पैदा करने के लिए वेबसाइट भी बनाई हैं, हालांकि उनमें बहुत कम जानकारी दी गई है। कुछ महीने पहले आरबीआई ने ऐसे लोन ऐप्स को लेकर चेतावनी जारी की थी।


ऐसे ऐप्स से रहें सावधान

यूपीए लोन, गोल्डमैन पे बैक, हैंडी लोन, रुपीकिंग, एमआई रुपे, वन लोन कैश एनी टाइम, एक्सप्रेस लोन, रुपया लोन, रुपी स्टार, स्मॉल लोन, अपना पैसा आदि।

इसलिए लोग शिकार होते हैं

कॉल सेंटर के माध्यम से यह आश्वासन दिया जाता है कि यह बैंक की तुलना में आसान है।
ऐसे ऐप्स बिना केवाईसी के, बिना डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन के लोन देते हैं।
कोरोना काल में लोगों की आर्थिक दिक्कतों के बीच इस तरह के ऐप ने पहुंच बढ़ा दी.
तत्काल ऋण के लिए बिना किसी गारंटी के खाते में पैसा भेजा जाता है।


इस तरह वे धोखा देते हैं

क्रेडिट कार्ड रिपोर्ट और सिबिल स्कोर से वित्तीय संकट से जूझ रहे लोगों का डेटा एकत्र करता है।
कॉल सेंटर के जरिए लोगों को फोन कर आसान कर्ज देने का वादा करते हैं।
छोटी ऋण राशि भी उपलब्ध है लेकिन ब्याज दर बहुत अधिक है।
लोगों से 200 फीसदी से लेकर 500 फीसदी तक की ऊंची ब्याज दरें वसूल की जाती हैं।
कभी-कभी कर्ज की दो से पांच किस्तें काटकर बाकी रकम दे दी जाती है।
ऐप इंस्टॉल होते ही मोबाइल के कॉन्टैक्ट और फोटो उनके पास वीडियो तक पहुंच जाते हैं।
एक भी किस्त छूट जाने पर ब्लैकमेलिंग और टॉर्चर का खेल शुरू हो जाता है।
निजी फोटो सार्वजनिक करने की धमकी देकर प्रताड़ित किया जा रहा है।
रिश्तेदारों, रिश्तेदारों और कार्यालय के सहयोगियों को धमकी भरे कॉल किए जाते हैं।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button