अन्य खबरें

अब कोयला संचालित उद्योग होंगे ठप….

Panipat: समय सीमा खत्म, कोयला संचालित उद्योग होंगे ठप, सात लाख लोगों के रोजगार पर संकट

( PUBLISHED BY – SEEMA UPADHYAY )

औद्योगिक नगरी पानीपत के सात लाख लोगों के रोजगार पर संकट खड़ा हो गया है। वजह यह है कि केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड और राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड को एक अक्टूबर से कोयला आधारित उद्योगों को बंद करने का नोटिस दिया गया है. साथ ही उद्योगों को पीएनजी से संचालित करने का निर्देश दिया गया है.

वहीं दूसरी ओर उद्योग जगत को पीएनजी पर चलाने में उद्यमी बेबस नजर आ रहे हैं। इस संबंध में शुक्रवार को उद्यमियों ने आपात बैठक कर सरकार से हस्तक्षेप की गुहार लगाई और समस्या का समाधान नहीं होने पर संसद भवन व विधानसभा का घेराव करने की चेतावनी दी.

एनजीटी द्वारा गठित वायु गुणवत्ता प्रबंधन आयोग के आदेश पर शुक्रवार से टेक्सटाइल सिटी की 500 रंगाई इकाइयों और कोयले से चलने वाले 100 कंबल संयंत्रों को बंद करने की तैयारी है. यदि रंगाई की इकाइयां बंद हैं तो सूत, रसायन, चादर, तौलिया, कंबल, पैकेजिंग समेत तमाम उद्योग बंद रहेंगे.

बड़ी समस्या, पीएनजी के बर्नर तक नहीं, कैसे हों उद्योग शिफ्ट

उद्यमियों ने बैठक में कहा कि एक्यूसीएम उन पर बॉयलर को पीएनजी में शिफ्ट करने का दबाव बना रहा है। उन्हें पीएनजी बॉयलर चलाने का प्रशिक्षण नहीं दिया गया। पीएनजी बर्नर उपलब्ध नहीं है। भारत में बहुत कम बर्नर बनते हैं। ऐसे में कंपनी बर्नर की आपूर्ति नहीं कर पा रही है। बर्नर दो साल से इंतजार कर रहे हैं, इसलिए बॉयलर को पीएनजी में स्थानांतरित करने के लिए उन्हें दो साल की जरूरत है।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button