छत्तीसगढ़धर्म
Trending

सावन माह में गंगरेल बाँध का तांडव

PUBLISHED BY : Vanshika Pandey

छत्तीसगढ़ के धमतरी स्थित गंगरेल बांध के सभी 14 गेट खोल दिए गए हैं। फिलहाल वहां से 10 हजार क्यूसेक पानी छोड़ा जा रहा है। इसको लेकर प्रशासन की ओर से महानदी के किनारे बसे गांवों में अलर्ट जारी कर दिया गया है. पहाड़ों से लगातार पानी आने से गंगरेल बांध 91 फीसदी तक भर चुका है. राजनांदगांव में ओवरफ्लो नाले को पार नहीं कर पाने के कारण एक मरीज की मौत हो गई. वहीं रायपुर-कांकेर के बीच एनएच-30 पर चट्टानें गिरने से जगदलपुर मार्ग को बंद कर दिया गया है. वहीं सुकमा के कोंटा कस्बे में पानी कम होने से लोगों ने राहत की सांस ली है.

महाराष्ट्र, तेलंगाना और आंध्र प्रदेश के बाद अब दक्षिण बस्तर में भी बारिश कहर बरपा रही है. नदियां और नाले उफान पर आ गए हैं। इसके चलते अब तक छत्तीसगढ़ से तीनों राज्यों का संपर्क कट चुका है। हाईवे पूरी तरह पानी में डूबा हुआ है। कई बड़े वाहन और ट्रक भी इसमें फंस गए हैं। इस दौरान सेना वहां फंसे लोगों को हेलीकॉप्टर से निकाल रही है. कोंटा से सटे तेलंगाना के भद्राचलम में लोग पानी के कारण बचने के लिए घरों की छत पर चले गए हैं.

धमतरी में रविवार सुबह करीब 4 बजे से मूसलाधार बारिश जारी है। इससे शहर के अमापारा वार्ड में कमर तक पानी भर गया है। लोग उस भरे हुए पानी में बोटिंग कर मजे ले रहे हैं. शहर की सड़कें दो से तीन फीट पानी से भर गई हैं। वहीं दूसरी ओर नदियां और नाले उफान पर आ गए हैं। शहरी क्षेत्र के कई गांवों का मुख्यालय से संपर्क टूट गया है. मौसम विभाग के मुताबिक पिछले 24 घंटे में जिले में डेढ़ इंच बारिश रिकॉर्ड की गई है.

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button