छत्तीसगढ़

मानसून में जन्नत की तरह चमकते हैं छत्तीसगढ़ की ये जगहें, एक बार जरूर जाएं

आकाश मिश्रा ✍️

रायपुर। छत्तीसगढ़ पर्यटन और धार्मिक महत्व की दृष्टि से देश का एक महत्वपूर्ण राज्य है। यहां कई पर्यटन स्थल, प्राचीन मंदिर, प्राकृतिक स्थल और राष्ट्रीय उद्यान हैं। वैसे तो आपको यहां कई दर्शनीय स्थल देखने को मिल जाएंगे, लेकिन छत्तीसगढ़ में कुछ ऐसी जगहें भी हैं जहां पर्यटकों को इसके बारे में कम ही पता होता है। लेकिन इन जगहों पर भरपूर मनोरंजन और मस्ती बिखरी पड़ी है। तो अगर आप भी अकेले या अपने परिवार के साथ कहीं जाने का प्लान कर रहे हैं तो आइए हम आपको यहां की कुछ ऐसी जगहों के बारे में बताते हैं जो आपको रोमांचित कर देंगी।

मैनपाट
छत्तीसगढ़ के सरगुजा जिले का पर्यटन स्थल मैनपाट बरसात के मौसम में छत्तीसगढ़ की सबसे खूबसूरत जगहों में सबसे ऊपर आता है। मैनपाट को ‘छत्तीसगढ़ का शिमला’ भी कहा जाता है। बारिश यहां का मौसम खुशनुमा बना देती है। यहां घूमने के लिए कई खूबसूरत जगहें हैं। जिसमें बौद्ध मंदिर, उल्टा-पानी, टाइगर पॉइंट, जलजली, मेहता पॉइंट, टी गार्डन और कई अन्य स्थान शामिल हैं। यहां घूमने के लिए राज्य के दूसरे जिलों से पर्यटक पहुंचते हैं। वैसे तो मैनपाट में हर समय सैलानियों का आना-जाना लगा रहता है। लेकिन अगर आप इस मौसम में कहीं घूमने का प्लान कर रहे हैं तो मैनपाट आपके लिए एक अच्छा विकल्प बन सकता है।

धमतरी
छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर से 80 किमी दूर स्थित धमतरी एक ऐसा पर्यटन स्थल है, जहां अगर आप शांति और आराम से यात्रा करना चाहते हैं तो आपके लिए धमतरी एक अच्छा विकल्प होगा। धमतरी अपने प्रसिद्ध मंदिरों के लिए भी जाना जाता है। यहां हर साल पर्यटक घूमने आते हैं। धमतरी में नदियों का संगम, आदिवासी रहन-सहन, लजीज भोजन सबका आनंद मिलता है। इसके अलावा धमतरी के आसपास कुछ ऐसे बिंदु हैं जो आपको पर्यटन का एक अलग अनुभव देंगे। मानसून के दिनों में धमतरी की खूबसूरती को चार चांद लग जाते हैं।

चित्रकूट
छत्तीसगढ़ का चित्रकोट भी मानसून के मौसम में बेहद खूबसूरत पर्यटन स्थल माना जाता है। मानसून के इस मौसम में अगर आप जलप्रपात का नजारा देखना चाहते हैं तो चित्रकोट आएं, चित्रकोट जलप्रपात छत्तीसगढ़ का निग्रा जलप्रपात कहलाता है। यह छत्तीसगढ़ का सबसे चौड़ा जलप्रपात है। जो घने जंगलों के बीच जगदलपुर से 38 किमी दूर पाया जाता है। वर्षा ऋतु में इस स्थान को धरती का स्वर्ग कहा जाता है। ऐसे में अगर आप बारिश में घूमने का प्लान कर रहे हैं तो छत्तीसगढ़ के चित्रकोट जाने में देर न करें.

भोरमदेव
कवर्धा से करीब 18 किलोमीटर दूर मैकाल पर्वत श्रृंखलाओं के बीच बसा भोरमदेव प्रकृति प्रेमियों के लिए बेहद खास जगह माना जाता है। यहां स्थित भोरमदेव मंदिर पहाड़ों और घने जंगलों से घिरा हुआ है। इसे छत्तीसगढ़ का खुजराहो भी कहा जाता है। बरसात के मौसम में यहां की जगहों पर खूबसूरती बिखर जाती है। भोरमदेव के अलावा मांडवा महल और चरकी महल भी यहां के अच्छे पर्यटन स्थल हैं। जहां पर्यटकों को बड़ी शांति का अनुभव होता है।

चिरमिरी
कोरिया जिले में स्थित चिरमिरी अपनी सुंदरता के लिए प्रसिद्ध है, चिरमिरी का मौसम साल भर बहुत ही सुहावना और सुहावना रहता है, इसके पुराने मंदिर और प्राकृतिक सुंदरता पर्यटकों को दीवाना बना देती है। चिरमिरी हिल स्टेशन के आसपास प्राकृतिक आकर्षण देखने को मिलते हैं। अगर आप किसी नई जगह जाने का प्लान कर रहे हैं तो चिरमिरी उसमें परफेक्ट है। यहां आपको शानदार माहौल, मानसून की हरियाली से लेकर सब कुछ मिल जाएगा। जबकि फोटोग्राफी के शौकीनों के लिए भी यह जगह बेहद खास है। ऐसे में अगर आप इस मानसून घूमने का प्लान कर रहे हैं तो छत्तीसगढ़ की इन जगहों पर आ सकते हैं।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button