अन्य खबरें

दूधसागर फॉल्स दिखता है ‘जन्नत’ जैसा, देखकर हो जाएंगे आप भी दीवाने

आकाश मिश्रा ✍️

जब भी पर्यटन स्थलों की बात आती है तो सबसे पहले मन में गोवा का ही नाम आता है। यह प्रकृति प्रेमियों से लेकर नाइटलाइफ़ प्रेमियों के लिए एक आदर्श स्थान है। शानदार समुद्र तट, खूबसूरत जलप्रपात और हरियाली लोगों को अपनी ओर आकर्षित करती है। बारिश के मौसम में गोवा की प्राकृतिक सुंदरता अपने चरम पर पहुंच जाती है और यहां का नजारा देखकर लोग हैरान रह जाते हैं। गोवा का सबसे प्रसिद्ध ‘दूधसागर जलप्रपात’ इन दिनों आकर्षण का केंद्र बना हुआ है। मानसून में यह इतना खूबसूरत हो गया है कि आप इसे देखकर खुद ही भूल जाएंगे।
गोवा और कर्नाटक की सीमा पर स्थित दूधसागर जलप्रपात भारत के पांच सबसे ऊंचे झरनों में से एक है। करीब 310 मीटर ऊंचे और 100 फीट चौड़े दूधसागर जलप्रपात को देखने पर ऐसा लगता है मानो पहाड़ों से दूध नीचे आ रहा हो। यह झरना अपनी करिश्माई प्राकृतिक सुंदरता और मनमोहक वातावरण के कारण गोवा के पास घूमने के लिए सबसे अच्छी जगहों में से एक है। इस भव्य चार-स्तरीय जलप्रपात को 2013 की ब्लॉकबस्टर फिल्म चेन्नई एक्सप्रेस में भी दिखाया गया था। दूधसागर जलप्रपात इन दिनों बेहद खूबसूरत नजर आ रहा है।
यह गोवा और आसपास के स्थानों पर आने वाले पर्यटकों के लिए सबसे लोकप्रिय स्थानों में से एक है। गोवा में दूधसागर जलप्रपात शुरू में एक पहाड़ से नीचे आते दूध जैसा दिखता है, जो बाद में झरनों में बदल जाता है। दूधसागर जलप्रपात गोवा में महावीर वन्यजीव अभयारण्य के करीब स्थित है। इस फॉल्स के अलावा आप यहां वन्य जीवन के अद्भुत नजारे देख सकते हैं। इस अभयारण्य में आप जंगली कुत्ते, बंगाल टाइगर, ग्रे सिर वाले मैना, चित्तीदार हिरण, भालू, तेंदुआ, बाइसन और तितलियों की विभिन्न प्रजातियों को देख सकते हैं।
गोवा में करने के लिए बहुत कुछ है। यहां आप खूबसूरत बीच पर घूम सकते हैं। यहां कई ऐतिहासिक चर्च और अन्य धार्मिक स्थल हैं। इसके अलावा गोवा की नाइटलाइफ पूरे देश में मशहूर है। बीच पार्टी और कभी-कभार होने वाले त्यौहार गोवा को एक आदर्श गंतव्य बनाते हैं। आप दिल्ली से गोवा तक फ्लाइट और ट्रेन से पहुंच सकते हैं। दिल्ली से गोवा की दूरी करीब 1900 किलोमीटर है।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button