Uncategorized
Trending

14 जुलाई से शुरु होगा शिव भक्तो का पावन महिना

PUBLISHED BY : Vanshika Pandey

सावन का महीना गुरुवार 14 जुलाई से शुरू हो रहा है और सावन का पहला सोमवार 18 जुलाई को है. सावन के महीने का हिंदू धर्म में विशेष महत्व है। ऐसा माना जाता है कि सावन का महीना भगवान शिव का सबसे प्रिय महीना होता है और इस पूरे महीने में हर तरफ हरियाली छा जाती है। इस माह में भगवान शिव की पूजा करने से मनोवांछित फल की प्राप्ति होती है। सावन का महीना विशकुंभ और प्रीति जैसे शुभ योगों से शुरू हो रहा है। सावन के महीने में भगवान शिव की पूजा के लिए ये योग बहुत ही खास माने जाते हैं। सावन के महीने में शिवलिंग के रुद्राभिषेक का भी विशेष महत्व है।

शुभ योग के साथ पहला सोमवार


सावन माह का पहला सोमवार 18 जुलाई को है और इस दिन रवि नामक योग होता है। शास्त्रों में बताया गया है कि इस योग में किसी भी मंत्र का अभ्यास अधिक फलदायी होता है। इस योग में महामृत्युंजय मंत्र का जाप और शिव पुराण का पाठ मनोकामना पूर्ति के लिए अत्यंत लाभकारी होगा। साथ ही रवि योग में शिव परिवार की पूजा करने से सभी कष्ट दूर होते हैं। इस दिन पंचमी तिथि होने के कारण कुछ स्थानों पर नाग पंचमी का पर्व भी मनाया जाएगा। यानी इस दिन भगवान शिव के साथ उनके दास नाग की भी पूजा की जाएगी. इस दिन भगवान शिव को कच्चा दूध, गंगाजल, बेलपत्र, काले तिल, धतूरा, बेलपत्र, मिठाई आदि अर्पित कर विधिवत पूजा करनी चाहिए।

सावन मास का महत्व


शिव पुराण के अनुसार सावन मास के सभी सोमवारों को व्रत करने से भगवान शिव की कृपा मिलती है और सभी कष्ट और कष्ट दूर होते हैं। सावन के महीने में अकाल मृत्यु को दूर करने और दीर्घायु प्राप्त करने और सभी रोगों को दूर करने के लिए विशेष पूजा की जाती है। शास्त्रों के अनुसार सावन के महीने में भगवान शिव की आराधना, महामृत्युंजय मंत्र, शिव पुराण, रुद्राभिषेक आदि का पाठ करने से कर्ज, रोग, विघ्नों और कष्टों और दुखों से मुक्ति मिलती है।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button